August 12, 2022

राजस्थान कोटा में लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला,माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज ने किया सुपोषित मां अभियान के दूसरे चरण का शुभारंभ

राजस्थान के कोटा में सुपोषित माँ अभियान के द्वितीय चरण का शुभारंभ,हंस फाउंडेशन ने लाभार्थी महिलाओं को प्रदान की पोषण किट

राजस्थान के कोटा में मंगलवार को यूआईटी ऑडिटोरियम में सुपोषित माँ अभियान के द्वितीय चरण का शुभारंभ लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला,हंस फाउंडेशन के प्रेरणास्रोत माताश्री मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज ने किया। इस अभियान के तहत 3 हजार गर्भवती महिलाओं को सुपोषित करने का लक्ष्य रखा गया है। जिसमें कोटा में 2 हजार एवं बूंदी में 1 हजार महिलाएं शामिल है।

सुपोषित माँ अभियान के द्वितीय चरण का शुभारंभ करते हुए लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि मां अपनी ही नहीं,अपनों की भी चिंता करती है। मां की पूजा तभी साकार होगी,जब हम मां को स्वस्थ रख सकेंगे। हर गर्भवती मां को सुपोषित करने के लिए काम करेंगे। हर मां को सुपोषित करना हमारी जिम्मेदारी है।
उन्होंने कहा कि आज हमारे लिए और हमारी माता-बहनों के लिए बहुत ही सौभाग्य की बात हैं कि हमें हंस फाउंडेशन के प्रेरणास्रोत श्री भोले जी महाराज एवं माता मंगला जी का आशीर्वाद इस अभियान के लिए मिला है। आप इस अभियान के तहत लाभार्थी महिलाओं को 9 महीने तक पोषण किट उपलब्ध कराएंगे। इसी के साथ हंस फाउंडेशन की ओर से गांव-गांव में चलता फिरता अस्पताल भी संचालित होगा, जहां गर्भवती महिलाओं की जांच की जाएगी। इसके लिए हम माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी का आभार व्यक्त करते है।


श्री बिरला ने हंस फाउंडेशन की सेवाओं के बारे में बताते हुए कहा की माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज के सानिद्धय में हंस फाउंडेशन भारत के कई राज्यों में स्वास्थ्य-शिक्षा,दिव्यंगता,रोजगार,पलायन,पेयजल,कृषक कल्याण,समाज कल्याण,महिला सशक्तिकरण,ग्रामीण विकास,बाल विकास एवं ऊर्जा आदि क्षेत्रों में सेवाएं देने के साथ-साथ भारत के सीमांत क्षेत्रों में बसे गांवों तक सेवाएं पहुंचा रहा है। यह यकीनन सेवा का वास्तिवक परिदृश्य है। जिसे माता मंगला जी अपनी सेवाभावनाओं के साथ निरंतर आगे बढ़ा रही है। इसी का एक सुखद परिणाम हैं कि आज माता मंगला जी राजस्थान की इस भूमि में हमारे इस अभियान सुपोषित मां अभियान के दूसरे चरण में भागीदारी कर,इस अभियान को जनआंदोलन बनाने के लिए हमारे साथ खड़ी है,हम आभारी है।
इस मौके पर माताश्री मंगला जी ने कार्यक्रम में उपस्थित अतिथियों को अभिनंदन करते हुए कहा कि हम आज अभिभूत हैं कि हम मां के स्वास्थ्य को लेकर इस अभियान में शामिल है। मां को यूं ही ईश्वर का दर्जा नहीं दिया गया है। इस रिश्‍ते में बहुत कुछ खास होता है, जिसे आप या हम नकार नहीं सकते हैं। इस लिए यह रिश्ता स्वस्थ और खुश रहे,उसके लिए हमारी भी जिम्मेदारी बनती है। इस महत्वपूर्ण जिम्मेदारी को समझते हुए लोकसभा अध्यक्ष ओम बिराल जी ने सुपोषित मां अभियान की शुरूआत की है। इसके लिए मैं उन्हें और उनकी पूरी टीम को बहुत-बहुत बधाई देती हूं।


माता मंगला जी ने कहा कि आज गर्भवती मां के पोषण के साथ बच्चे के पोषण के लिए व्यापक प्रयासों की आवश्यकता है। इसके लिए ओम बिरला जी ने जो संकल्प लिया था। वह निरंतर आगे बढ़ रहा हैं,और इस संकल्प में हंस फाउंडेशन को भी आज भागीदारी करने का अवसर प्राप्त हुआ है। यह हमारी सेवाओं का सम्मान है।
माता मंगला जी ने कहा कि सुपोषित मां अभियान हमारी आने वाली पीढियों के स्वास्थ्य को सुरक्षित रखने का अभियान है। मां का मानसिक प्रभाव उसके बच्चे पर भी पड़ता है। इस लिए मां को स्वस्थ रखेंगे तो आने वाली पीढ़ी भी स्वस्थ रहेगी। इस लिए हम सभी को ओम बिरला जी की प्रेरणा से शुरू हुए इस अभियान को जनआंदोलन के संकल्प के साथ पूरा करना है।
इस मौके पर माता मंगला जी ने कहा कि हंस फाउंडेशन देश के विभिन्न क्षेत्रों में सेवाएं दे रहा है। हमारी सेवाओं के केंद्र में भारत के ग्रामीण परिवेश से लेकर सीमांत क्षेत्रों में बसे गांव है। जहां तक सेवाएं निरंतर पहुंच रही है। आज जब यहां इस आयोजन में शामिल हैं तो अरूणाचल प्रदेश के त्वांग के दूर्गम क्षेत्रों में स्थित सरकारी स्वास्य केंद्रों के लिए हंस फाउंडेशन द्वारा प्रदान की गई एम्बलेंसों को मुख्यमंत्री प्रेमा खांडू जी ने फ्लैग ऑफ किया है,यह एम्बुलेंस अरूणाचल प्रदेश की सीमा पर बसे गांवों के लोगों को स्वास्थ्य की सेवाएं प्रदान करेंगी।
इसी तरह आज हमने कोटा-बूंदी के ग्रामीण अंचलों में स्वास्थ्य सुविधाओं को सुदृढ करने की दिशा में हॉस्पिटल ऑन व्हील्स सेवा का शुभारंभ किया है। अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस यह मोबाइल वैन गांव-ढाणियों में आमजन तक स्वास्थ्य सेवाओं की पहुंच को सुगम बनाएगीl हॉस्पिटल ऑन व्हील्स सेवा के माध्यम से आमजन को प्राथमिक उपचार से लेकर सामान्य जांच,नि:शुल्क दवा व परामर्श की सुविधाएं भी मिलेगी। मरीजों को चिन्हित कर प्राथमिक जांच की जाएगी ताकि गंभीर बीमारी की स्थिति में समय पर उपचार संभव हो सके।
आपको बता दें कि लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला की पहल पर वर्ष 2020 में शुरू हुए सुपोषित मां अभियान के लिए पिछले कई दिनों से कोटा में अलग-अलग स्थानों पर मेडिकल कैंप लगाकर ऐसी गर्भवती महिलाओं को चिन्हित किया गया था,जिन्हें पोषण की जरूरत है। मॉनिटरिंग के लिए महिलाओं को स्वास्थ्य कार्ड भी उपलब्ध कराए गए थे,साथ ही महिलाओं की विभिन्न प्रकार की स्वास्थ्य जांच हुई थी।
इस बार हंस फाउंडेशन ने इस अभियान में सहयोग किया है। जिसके तहत लाभार्थी महिलाओं को पोषण किट उपलब्ध कराई गई। जिसमें आटा,चना,मूंग साबूत,तेल मूंगफली,मिक्स दाल,मेथी दाना, सोयाबड़ी,मूंगफली के दाने और बेस है। यह किट हर महीने गर्भवती महिलाओं को नौ महीने तक प्रदान की जाएगी। साथ ही हर महीने मेडिकल चेकअप भी करवाया जायेगा। इस अवसर पर कोटा दक्षिण विधायक संदीप शर्मा,विधायक चंद्रकाता मेघवाल और बड़ी संख्या में आमजन मौजूद थे।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!