December 7, 2021

DM हिमांशु खुराना ने उप जिला चिकित्सालय कर्णप्रयाग का किया औचक निरीक्षण

चमोली। जिलाधिकारी हिमांशु खुराना ने उप जिला चिकित्सालय कर्णप्रयाग का औचक निरीक्षण कर स्वास्थ्य व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इस दौरान जिलाधिकारी ने ओपीडी, जन औषधि केन्द्र, आपातकालीन वार्ड, एक्सरे, लेवर रूम, सर्जिकल वार्ड, महिला वार्ड, सामान्य वार्ड, आपरेशन थियेटर, आइसोलेशन वार्ड, महिला प्रसूति कक्ष आदि व्यवस्थाओं का बारीकी से निरीक्षण करते हुए अस्पताल में भर्ती मरीजों का हाल पूछा और उनको मिल रही चिकित्सा सुविधा, दवा, भोजन आदि के बारे में जानकारी ली।

उप जिला चिकित्सालय में मरीजों की अधिक संख्या को देखते हुए जिलाधिकारी ने साफ सफाई का विशेष ध्यान रखने और अस्पताल मे टूटे फर्नीचर को तत्काल बदलने के निर्देश दिए। कहा कि रात्रि ड्यूटी करने वाले चिकित्सक, स्टाफ नर्स के लिए भी अच्छी व्यवस्थाए की जाए। सभी चिकित्सको की टेबल पर नेम प्लेट अवश्य रहे। मरीजों को बेहतर इलाज के साथ अस्पताल से ही दवाइयां दी जाए। इस दौरान जिलाधिकारी ने चिकित्सा अधीक्षक से अस्पताल में उपलब्ध स्वास्थ्य उपकरणों एवं अन्य आवश्यकताओं के बारे में भी जानकारी ली। कहा जन स्वास्थ्य के दृष्टिगत जो भी उपकरण की आवश्यकता है उसका प्रस्ताव दे।

अस्पताल के अधीक्षक डा राजीव शर्मा ने बताया कि अस्पताल में फीजीसियन की नितांत आवश्यकता है। गर्भवती महिलाओं और गंभीर रूप से बीमार मरीजों को सडक से अस्पताल पहुंचने में सीढियों से पैदल आने मे कठिनाइयाँ होती है। यदि अस्पताल गेट से लेवर वार्ड तक लिफ्ट से कनेक्ट किया जाए तो मरीजों को सुविधा मिलेगी। इसके अतिरिक्त चिकित्सालय में विभिन्न वार्डो की मरम्मत की जानी है। जिस पर जिलाधिकारी ने अस्पताल के जीर्णाेद्धार हेतु विस्तृत प्लान तैयार करते हुए शीघ्र इसका प्रस्ताव उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

जिलाधिकारी ने कर्णप्रयाग में संचालित कोविड टीकाकरण केन्द्र का निरीक्षण भी किया। यहां पर वैक्सीनेशन कार्यो की जानकारी लेते हुए जिलाधिकारी ने पूरी टीम को शतप्रतिशत वैक्सीनेशन लक्ष्य हासिल करने के लिए प्रोत्साहित भी किया। कहा कि कोविड वैक्सीनेशन मे चमोली जनपद अभी दूसरे स्थान पर है। दूसरी डोज के लिए निर्धारित लक्ष्य जल्द से जल्द हासिल करें ताकि पूरा जनपद शतप्रतिशत वैक्सीनेशन के साथ नंबर वन जिला बन सके। इस दौरान जिलाधिकारी ने कर्णप्रयाग में नगर पालिका की सिटी बस सेवा का उद्घाटन भी किया।

इसके बाद जिलाधिकारी ने सिमली में नवनिर्मित महिला बेस चिकित्सालय का निरीक्षण किया। यहां पर हाल ही में 500 एलपीएम क्षमता का ऑक्सीजन प्लांट लगाया गया है। जिलाधिकारी ने अस्पताल में आक्सीजन प्लांट को जल्द सुचारू करने तथा ऑक्सीजन पाइप लाईन विछाने से वार्डो में टूटफूट को रिपेयर करने तथा पाइपलाईन को कवर करने के निर्देश दिए। अस्पताल के विभिन्न वार्डो का निरीक्षण करते हुए जिलाधिकारी ने विद्युत सप्लाई, पावर बैकअप एवं अन्य व्यवस्थाओं की जानकारी भी ली।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *