December 7, 2021

श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय में नए छात्रों के स्वागत के लिए दीक्षारंभ ओरिएंटेशन कार्यक्रम का आयोजन

श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय में नए छात्रों के स्वागत के लिए दीक्षारंभ ओरिएंटेशन कार्यक्रम का आयोजन

विश्वविद्यालय का माहौल छात्रों के सर्वांगीण विकास के लिए पूर्णतया अनुकूल: कुलपति

 

देहरादून। श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय में नए छात्रों के स्वागत के लिए दीक्षारंभ ओरिएंटेशन कार्यक्रम का आयोजन किया गया । विश्वविद्यालय में आयोजित तीन दिवसीय ओरिएंटेशन कार्यक्रम की शुरुआत गुरुवार को हुई।

कार्यक्रम के पहले दिन विश्वविद्यालय के कुलाधिपति महंत देवेंद्र दास जी महाराज ने सभी छात्रों को शुभकामना संदेश प्रेषित किया। कार्यक्रम की शुरुआत सरस्वती वंदना की प्रस्तुति से हुई। ओरियंटेशन कार्यक्रम के पहले दिन स्कूल ऑफ मैनेजमेंट एंड कॉमर्स स्टडीज के साथ स्कूल ऑफ फार्मास्यूटिकल साइंस एवं स्कूल ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन एंड इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी में नये छात्रों का स्वागत किया गया।

इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. यू एस रावत द्वारा दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुरुआत की गई । कुलपति ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि विश्वविद्यालय का चार वर्षों का कार्यकाल उपलब्धियों से भरा रहा है। उन्होंने नई शिक्षा नीति की खूबियों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि नई शिक्षा नीति के द्वारा छात्रों को कई ज्ञानवर्द्धक कार्यक्रम भी जानने को मिलेंगे। उन्होंने बताया कि श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय एक ऐसा विश्वविद्यालय है जहां पर एक तरफ छात्र मेडिकल और नर्सिंग के साथ ही पैरामेडिकल के कोर्स कर रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ कृषि, मानविकी और शिक्षा विभाग भी सफलतापूर्वक संचालित हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय में इस प्रकार के समन्वयक वातावरण के कारण छात्रों का चहंुमुखी विकास हो सकता है। उन्होंने इसे बहुत ही संवेदनशील और भावनात्मक विषय के साथ ही एक ऐतिहासिक पल की संज्ञा देते हुए कहा कि उत्तराखंड और बाहर के छात्र जो विश्वविद्यालय में पढ़ने आए हैं, उन्हें इसे अपना परिवार मानना चाहिए। उन्होंने भाषा के महत्व पर प्रकाश डालते हुए छात्रों को प्रेरणा दी कि आजकल छात्रों को अंग्रेजी के साथ-साथ स्थानीय भाषा का भी ज्ञान होना आवश्यक है। उन्होंने छात्रों को सही आचरण बनाए रखने के लिए अच्छी पुस्तकें पढ़ने और आज के प्रतियोगी युग में जीतने के लिए ज्ञान बढ़ाने की भी सलाह दी। उन्होंने उपस्थित सभी स्कूलों की फैकल्टी के विषय में कहा कि यहां के शिक्षक उच्च शिक्षित एवं अनुभवी हैं और विश्वविद्यालय का माहौल छात्रों के सर्वांगीण विकास के लिए पूर्णता अनुकूल है।

इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ दीपक साहनी ने छात्रों को विश्वविद्यालय के शैक्षिक पाठ्यक्रम के साथ-साथ प्रशासनिक जानकारी भी दी। उन्होंने छात्रों को कौशल विकास के लिए भी प्रेरित किया। विश्वविद्यालय की शैक्षिक समन्वयक डॉ. मालविका कांडपाल ने नए छात्रों को भविष्य के लिए शुभकामनाएं प्रेषित की।

इस अवसर पर विश्वविद्यालय समन्वयक डॉ आर.पी. सिंह ने छात्रों को सफल होने के लिए मेहनत का मूल मंत्र दिया।

इस अवसर पर छात्रों के मनोरंजन के लिए डॉ. प्रिया पांडे और डॉ. अनुजा रोहिल्ला के निर्देशन में गढ़वाली और कुमाऊंनी लोकनृत्य, लोकगीत प्रस्तुत किए गए।

दीक्षारंभ कार्यक्रम के प्रथम और द्वितीय सत्र में स्कूल ऑफ मैनेजमेंट एंड कॉमर्स स्टडीज के प्रोफेसर दीपक साहनी के साथ ही स्कूल ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन एंड इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी की डीन प्रोफेसर पारुल गोयल और स्कूल ऑफ फार्मास्यूटिकल साइंस की डीन प्रोफेसर अलका चैधरी ने उपस्थित छात्रों को अपने-अपने विभाग की जानकारी दी।

धन्यवाद प्रस्ताव डॉ कुमुद सकलानी और डॉ विपुल जैन द्वारा दिया गया। मंच संचालन डॉ दिव्या नेगी और ईशा शर्मा द्वारा किया गया।

इस अवसर पर डीन रिसर्च प्रोफेसर अरुण कुमार, डॉ मनोज गहलोत, डॉ मनोज तिवारी, डॉ सुमन विज, डॉ विपुल जैन, सैफी खुराना, डॉ अनुज नौटियाल, डॉ पारुल गोयल, अर्चना केरो और प्रदीप सेमवाल के साथ ही संबंधित स्कूलों के सभी शिक्षक गण और नए छात्र मौजूद रहे।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *