February 27, 2024

मशरूम उत्पादन से हो सकती है मजबूत आर्थिकीःप्रो.ए.के.नेगी

 

ग्रामीण प्रौद्यागिकी विभाग द्वारा आयोजित मशरूम खेती एवं स्पान उत्पादन कौशल एवं क्षमता निमार्ण विकास प्रशिक्षण कार्यक्रम का समापन्न

श्रीनगर गढ़वालःहेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय के चौरास परिसर में स्थित ग्रामीण प्रौद्योगिकी विभाग में आयोजित मशरूम की खेती एवं स्पान उत्पादन कौशल एवं क्षमता निर्माण विकास प्रशिक्षण कार्यक्रम के द्वितीय चरण के अंतिम दिवस में मशरूम उत्पादन कार्यक्रम का समापन किया गया । जिसमे मुख्य अथिति पंकज नेथानी, शाखा प्रबंधक भारतीय स्टेट बैंक, कृषि एवं सम्बंन्ध विज्ञान के संकायाध्यक्ष प्रो. ए. के. नेगी, कार्यक्रम संयोजक प्रो. आर. एस. नेगी, कार्यक्रम सह-सयोजक डा० संतोष सिंह, द्वारा प्रशिक्षणार्थियों का उत्साहवर्धन करते हुए, प्रशिक्षण कार्यक्रम की रूप रेखा से अवगत कराया।
प्रो. आर. एस. नेगी द्वारा ढिंगरी मशरूम उत्पादन सम्बंदित रोजगार के साधनो के बारे में अवगत कराते हुए आत्मनिर्भर होने के लिए प्रोत्साहित किया। मुख्य अतिथि प्रो. ए. के. नेगी ने प्रशिक्षणार्थियों को मशरूम उत्पादन के छेत्र मे रोजगार के लिय प्रोत्साहित किया ।
प्रो. जितेंद्र सिंह बुटोला ने प्रशिक्षणार्थियों को मशरूम के क्षेत्र मे होने वाली नई खोजों के बारे में जानकारी दी तथा शोध के क्षेत्र मे आगे बढ़ने के लिए उत्सावर्धन किया ।
ग्रामीण प्रौद्योगिकी विभाग के शोधार्थी श्री अंकित सती द्वारा मशरूम के मूल्य वर्धन और अन्य फल सब्जियों से बनने वाले विभिन्न उत्पादों के बारे मे जानकारी दी। जिसमे मशरूम से बनने वाले खाद्य उत्पाद जैसे मशरूम बड़ी, मशरूम सूप, मशरूम मुरब्बा, मशरूम पापड़, मशरूम आचार, मशरूम पाउडर इत्यादि उत्पाद बनाने की विधि मे प्रकाश डालते हुए प्रसंस्करण के सिद्धांतों से अवगत कराया । सत्र के अगले चरण मे ग्रीन पहाड़ी फाउंडेशन के निदेशक एवं प्रशिक्षण कार्यक्रम के तकनीकी सहायक श्री अभिषेक रावत ने मशरूम व्यवसाय मे आने वाली समस्याओं के निदान से सम्बन्धित जानकारी दी गयी ।
मुख्य अथिपिंकज नेथानी ने प्रशिक्षणार्थियों को उत्तराखंड सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओ से अवगत कराया तथा कार्यक्रम के समापन के अवसर पर सभी प्रशिक्षणार्थियों के उज्जवल भविष्य की कामना के साथ प्रशस्ति पत्र प्रदान किए गये ।
कार्यक्रम मे ग्रीन पहाड़ी फाउंडेशन के डायरेक्टर अभिषेक रावत, डा. विजयकान्त पुरोहित, सह सायोजक डॉ संतोष सिंह, डा. एन शाह, विवेक सिंह, ईश्वर सिंह, ईश्वर सिंह हाटिंर्कलचर विभाग, ग्रामीण प्रौद्योगिकी विभाग के शोध छात्र नितेश रावत, अंकित सती, प्रतिभा रावत, नवदीप सिंह तथा समस्त छात्र प्रशिक्षण मे कुल 55 प्रतिभागी मौजूद रहे।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सोशल मीडिया वायरल

error: Content is protected !!