July 1, 2022

गणजेश्वर महादेव मंदिर की मुख्य गुम्बद में दरार,जीर्णोद्वार के लिए मुख्यमंत्री से लगाई गुहार

 

विकासखंड दशोली के ग्राम पंचायत कुजौं मैकोट में पौराणिक गणजेश्वर शिव पार्वती मंदिर जीर्णोद्वार एवं सौन्दर्यीकरण के संबध मंे गणजेश्वर महादेव पार्वती मंदिर समिति ने विधायक बद्रीनाथ विधानसभा राजेन्द्र भण्डारी के द्वारा प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को पत्र लिखा है।
मंदिर समिति ने पत्र में लिखा है कि गणजेश्वर महादेव मंदिर भगवान शिव और पार्वती का अति पौराणिक मंदिर है। चतुर्थ केदार रूद्रनाथ एवं तोली ताल के रास्ते पर स्थित यह मंदिर बहुत प्रसिद्व है। इस मंदिर में भगवान शिव व पार्वती का पौराणिक आप रूपी लिंग है। इस पौराणिक शिवालय का मुख्य गुम्बद र्जीण र्शीण स्थित में है। गुम्बद पत्थर की शिला से बना है। शिवलिंग के उपरी भाग लम्बी शिला पत्थर की है। जिसमें दरार आ गई है। गुम्बद से मंदिर के अंन्दर पानी आ रहा है। गुम्बद कभी भी टूट सकता है। जिससे शिव पार्वती के आप रूपी लिंग को पूर्ण छति हो सकती है। इस मंदिर में क्षेत्र के दर्जनों गांवों के लोग भगवान शिव पार्वती के दर्शनों के लिए आये दिन पंहुचते है। जिला मुख्यालय गोपेश्वर से मात्र 12 किलोमीटर की दूरी पर होने पर तीर्थाटन के दृष्टि से यह बहुत महत्व पूर्ण है।


गणजेश्वर महादेव मंदिर समिति ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से गुहार लगाई है कि इस मंदिर के र्जीणोद्वार के 30 लाख के अनुमानित धनराशि हेतु अग्रिम आदेश जारी कराये।
गौरतलब है कि मंदिर समिति ने एक और पत्र जारी कर भगवान भोले नाथ के भक्तों को दान में सीमेन्ट,आदि सामाग्री भेंट करने का भी निवेदन किया है। जिसके लिए 7453979582 फोन नंम्बर जारी किया गया है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सोशल मीडिया वायरल

error: Content is protected !!