August 12, 2022

मुख्यमंत्री विवेकाधीन की न्यूनतम धनराशि को बताया वृद्व,बीमार महिला ने खुद का अपमान,वापस की राहत राशि

रूद्रप्रयागःमुख्यमंत्री राहत कोश से पीड़ितो को दी जा रही न्यूनतम धनराशि से दुखी पीडित परिवार ने राहत राशि वापस किये जाने के लिए पत्र लिखा है। दरअसल 19 मार्च 2022 को रूद्र्रप्रयाग गौण्डार गधेरे में संतोष सिंह पुत्र कलम सिंह की मौत गौण्डार गधेरे में अचानक पैर फिसलने से हुई थी। जिस पर मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष से 5000 रूप्ये की धनराशि मृतक की वृद्व,बीमार मॉ के नाम पर स्वीकृत हुऐ है। इस राहत राशि का संज्ञान जब मृतक संतोष सिंह की बहिन ने लिया तो उन्होनंे मुख्यमंत्री को पत्र जारी कर इस राहत राशि को वापस करने की गुहार लगाई है।


मृतक की बहिन मंजू देवी ने 5000 रूप्ये की न्यूनतम धनराशि विवेकाधीन कोश से स्वीकृत कर मेरी वृद्व,गरीब,व बीमार मॉ का मजाक उडाया गया है। जो उनके धावो पर मलहम की जगह उलाहना देने का काम कर रहा है। इस लिए शासन को यह राहत राशि वापस करनी चाहिए।
मृतक की बहिन मंजू देवी ने आरोप लगाया है। कि जब उनके भाई की मौत हुई थी तब केदारनाथ विधायक शैला रानी रावत ने कम से कम 5 लाख रूपये की धनराशि विकेकाधीन कोश से दिलाने की बात कही थी। लेकिन शासन द्वारा 5000 रूप्ये की धनराशि दिलाकर उन्होनें गरीब,बीमार,व वृद्व महिला का अपमान किया है। उन्होने यह भी आरोप लगाया कि उनके साथ राजनीतिक बदले की भावना से काम किया गया है। जिससे वह काफी आहत है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!