November 29, 2022

अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त श्री महंत इंदिरेश अस्पताल का फिजियोथैरेपी विभाग जनसेवा में समर्पित

अस्पताल के चेयरमैन श्रीमहंत देवेंद्र दास जी महाराज ने दी फीजियोथेरेपी टीम को दी बधाई
एसजीआरआर मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य ने किया सेंटर का शुभारंभ।

देहरादून. श्री महंत इंदिरेश अस्पताल का नव निर्मित फिजियोथेरिपी विभाग आमजन की सेवा के लिय तयार है. श्री महंत इंदिरेश अस्पताल में फिजियोथेरिपी विभाग वर्ष 2002 से संचालित है. अब यह विभाग नए कलेवर में सभी अल्ट्रा मॉडर्न मशीनों व मॉडर्न तकनीकों के साथ अपडेट कर जनसेवा के लिय समर्पित कर दिया गया है. सोमवार से मरीजों को नए फिजियोथेरेपी विंग की सेवाओं का लाभ मिलने लगा है. श्री महंत इंदिरेश अस्पताल के चेयरमैन श्री महंत देवेंद्र दास जी महाराज ने फीजियोथेरिपी विभाग की पूरी टीम को बधाई दी.
सोमवार को श्री गुरु राम राय इंस्टीट्यूट ऑफ़ मेडिकल एंड हेल्थ साइंसेज के प्राचार्य डॉ. यशबीर दीवान ने अस्पताल के नए फिजियोथेरिपी विंग का शुभारंभ किया. प्राचार्य डॉक्टर यशबीर दीवान ने कहा कि श्री महंत इंदिरेश अस्पताल को उत्तराखंड व पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मरीजों की लाईफ लाइन के रूप में जाना जाता है. सभी मरीजों को रियायती दरों पर उत्कृष्ट सेवाएं देने के लिय श्री महंत इंदिरेश अस्पताल प्रबंधन कृतसंकल्पबद्ध है.
श्री महंत इंदिरेश अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ अजय पंडिता ने कहा की श्री महंत इंदिरेश अस्पताल की सेवाओं के प्रति आमजन का विश्वास साल दर साल बढ़ा है. उन्होंने सभी साथी डॉक्टरों का आह्वान किया कि आम जन की सेवा में पूरी ईमानदारी, लगन व निष्ठा के साथ आप सभी यूं ही सेवा देते रहें. नर सेवा ही नारायण सेवा है.।


फिजियोथेरिपी विभाग की प्रमुख डॉ तरंग श्रीवास्तव ने फिजियोथेरिपो विभाग की सेवाओं पर प्रकाश डाला. उन्होंने फिजियोथेरेपी सेंटर में आधुनिक हाइड्रोथेरेपी, शॉकवेव थेरेपी, क्लास 4 लेजर, रोबोटिक ग्लोव जैसी आधुनिक फिजियो थेरिपी उपचारों व
फिजियोथेरिपी सेंटर की अत्याधुनिक मशीनों के बारे में विस्तृत जानकारी दी.
इस अवसर पर श्री गुरु राम राय इंस्टीट्यूट ऑफ़ मेडीकल एंड हैल्थ साइंसेज एवम श्री महंत इंदिरेश अस्पताल के विभिन्न विभागों के विभागाध्यक्ष, फेकल्टी व स्टाफ सदस्य उपस्थित थे.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सोशल मीडिया वायरल

error: Content is protected !!