December 9, 2021

ग्रामीण क्षेत्रों में स्व-रोजगार से बनेगा उत्तराखंड आत्मनिर्भर-प्रो.आर.एस.नेगी

श्रीनगर गढ़वालःहेमवंती नदंन गढ़वाल केन्दीय विश्वविद्याल श्रीनगर के चौरास स्थित रूलर टैक्नालॉजी विभाग द्वारा आयोजित मशरूम उत्पादन तकनीकी प्रशिक्षण कार्यशाला के दूसरे दिन प्रसिक्षणार्थीयों के लिए विशेष ट्रेनिंग सत्र का आयोजन किया गया। टेªनिंग के लिए आयोजित विभिन्न 4 सत्रांे में मशरूम विशेषज्ञ कृतिवन रिर्सच सेंटर देहरादून के नबदीप सिंह राणा ने प्रशिक्षणाथियों को मशरूम उत्पादन की विभिन्न तकनीकियों की खास जानकारी दी। उन्होंने प्रशिक्षणाथियों को मशरूम उत्पादन की विपणन तकनीकी और मशरूम को खराब होने से बचाने के लिए उसके विभिन्न उत्पादों के बारे में बताया। नवदीप राणा ने मशरूम की विभिन्न प्रजातियों व उनके उपयोग के बारे में भी खास जानकारी बताया।

मशरूम उत्पादन तकनीकी कार्याशाला के अन्य सत्र में रूलर टैक्नालॉजी विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो.आर. एस. नेगी ने प्रशिक्षणाथियों को मशरूम उगाने के लिए प्रयोगात्मक कम्पोस्ट बनाने की विधि बताई।और मशरूम बनाने की कम्पोष्ट खाद को प्रशिक्षणार्थियों ने प्रयोगात्मक रूप में सीखा। इससे पहले प्रो.आर.एस.नेगी ने मशरूम के तकनीकी प्रशिक्षण कार्याशाला में प्रतिभाग कर रहे विभिन्न शोधार्थी छात्र-छात्राओं विषय की विशेषज्ञता से पहले उसके प्रारंभिक ज्ञान होने पर बल दिया गया।

कार्यक्रम के अतिरिक्त सत्र में डॉ.संतोष सिंह,नीतेश रावत द्वारा प्रशिक्षिणाथियो को मशरूम उत्पादन की तकनीकी पर विशेष जानकारी दी गई। मशरूम तकनीकी उत्पादन प्रशिक्षण कार्यशाला के दूसरे दिन 22 प्रतिभागियों के अलावा उद्यानकी विभाग के बी.एस.सी पंचम सेमस्टर के 32 छात्र-छात्राओं ने मशरूम से संबधित विशेष जानकारी प्राप्त की।

आपको बता दें कि, इस मशरूम तकनीकी प्रशिक्षण कार्यशाला का मुख्य उद्देश्य प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की महत्वाकांक्षी योजना वोकल फार लोकल के तहत स्थानीय उत्पादों को बढ़ावा देकर युवा बेरोजगारों को स्व-रोजगार की ओर अग्रसर कर देश को आत्मनिर्भर बनना है।साथ ही उत्तराखंड के ग्रामीण अंचलों में स्वरोजगार पैदा कर पलायन की समस्या से निजात दिलाना है।

भानु प्रकाश नेगी,हिमवंत प्रदेश न्यूज,श्रीनगर गढ़वाल

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *