September 26, 2022

एसजीआरआरयू के श्री महंत इंदिरेश अस्पताल में विश्व आत्महत्या रोकथाम दिवस पर जागरूकता कार्यक्रम

कार्यक्रम में मनोरोग विशेषज्ञों ने किया मंथन।
मनोरोग विशेषज्ञों ने एक सुर में कहा यदि समय रहते प्रयास करें तो आत्महत्या की ओर बढ़ रहे कदमों को रोका जा सकता है।

देहरादून। श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय के अन्तर्गत संचालित श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल के मनोरोग विभाग की ओर से विश्व आत्महत्या रोकथाम दिवस पर जनजागरूकता अभियान चलाया गया। हर वर्ष 10 सितम्बर को दुनिया भर में विश्व आत्महत्या रोकथाम दिवस पर जनजागरूकता कार्यक्रम आयेाजित किये जाते हैं। कार्यक्रम में विशेषज्ञों ने आत्महत्या के बढ़ते मामलों व उनकी रोकथाम पर मंथन किया व महत्वपूर्णं सुझाव दिए। इस अवसर पर इस विषय से जुडी विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेताओं को पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया। भारत के अन्य राज्यों की तरह उत्तराखण्ड में भी आत्महत्या के मामले दर्ज किये जा रहे हैं। पहाड़ी राज्य के दृष्टिकोण से यह मामले चिंताजनक हैं।
शनिवार को श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल के सभागार में ‘क्रिएटिंग होप थ्रू एक्शन‘ विषय पर आयोजित कार्यक्रम का शुभारंभ डॉ. शोभित गर्ग, विभागाध्यक्ष, मनोरोग विभाग ने किया। डॉ शोभित गर्ग ने कहा कि तनावग्रस्त माहौल, एंग्जाइटी, डिप्रेशन के प्रभाव में कई लोग आत्महत्या जैसा आत्मघाती कदम उठाने को मजबूर हो जाते हैं। युवाओं के साथ साथ अब बच्चे भी इस अवस्था से दो चार हो रहे हैं। यह बेहद चिंता की बात है। सामुहिक प्रयासों से समाज में ऐसे मामलों को रोका जा सकता है व बेहतर स्वस्थ्य समाज का निर्माण किया जा सकता है। डॉ शोभित गर्ग ने 10 सितम्बर के महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि इस दिवस का उद्देश्य लोगों में आत्महत्या की रोकथाम पर जनजागरूकता फैलाना है, चूंकि आत्महत्या को रोका जा सकता है। इसके लिए मेडिकल विशेषज्ञों के साथ साथ सामाजिक स्तर पर सामुहिक प्रयास भी जरूरी हैं। इस अवसर पर मरीजों की म्यूजिक थैरेपी भी दी गई।
इस अवसर पर आत्महत्या की रोकथाम व जनजागरूकता से जुड़े विषयांे पर मेडिकल छात्र-छात्राओं ने पोस्टर तैयार किये। श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल की नर्सिंग स्टाफ अंजली को बेस्ट पोस्टर प्रस्तुति का खिताब मिला। डॉ शोभित गर्ग ने प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कार देकर सम्मानित किया। श्री गुरु राम राय इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल एण्ड हेल्थ साइंसेज़ के के उप प्राचार्य डॉ ललित वार्ष्णेय, श्री गुरु राम राय इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल एण्ड हेल्थ साइंसेज़ के फार्माकोलोजी विभाग के प्रोफेसर व विभागाध्यक्ष डॉ एम.ए. बेग, श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल के वरिष्ठ बाल रोग विशेषज्ञ डॉ एस.के.राणा एवम् ने जज की भूमिका निभाई।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सोशल मीडिया वायरल

error: Content is protected !!