February 4, 2023

हयात होटल के अवैध निर्माण के खिलाफ उक्रांद का आंदोलन 

 उत्तराखंड क्रांति दल ने जंगल बचाओ- भ्रष्टाचार मिटाओ अभियान की शुरुआत आज दानिओ का डांडा से की.. राजधानी देहरादून और आसपास के क्षेत्रों में लगातार जंगलों का कटान और उन पर अवैध निर्माण जारी है.. जिसमें विकास प्राधिकरण की भूमिका सबसे ज्यादा संदिग्ध है… साथ ही शासन और सरकार इस पर चुप्पी साधे बैठी है.. उत्तराखंड क्रांति दल आज दानिओं के डांडा स्थित हयात रेजिडेंसी होटल के मुख्य द्वार के बाहर बैठकर आरक्षित वन क्षेत्र की भूमि को घेर बनाए गए निर्माण का विरोध किया और विकास प्राधिकरण और सरकार के खिलाफ मोर्चा बुलंद किया.. जहां स्थानीय लोगों ने भी उत्तराखंड क्रांति दल को अपनी आप बीती सुनाई… हयात होटल का स्टाफ पुलिस अभिरक्षा में दानिओ का डांडा में रहने वाले स्थानीय लोगों का किस तरह शोषण बहुत दमन कर जा रहा है इसकी विस्तार से जानकारी स्थनीय लोगों ने उत्तराखंड क्रांति दल को दी.. अपने सांकेतिक धरने में विक्रांत ने आज सरकार को चेताया है कि वह जल्द ही यह सब गड़बड़ियों को सही करें अब भ्रष्टाचार बंद करें अन्यथा निर्णायक आंदोलन की शुरुआत होगी इस क्रम में अगले चरण में विकास प्राधिकरण, नगर निगम, पीडब्ल्यूडी व वन विभाग को भी घेरने की तैयारी है.. मोर्चे की अगुवाई  केंद्रीय युवा प्रभारी शिवप्रसाद सेमवाल व केंद्रीय प्रवक्ता अनुपम खत्री ने की.. साथ में कर्मचारी प्रकोष्ठ के केंद्रीय अध्यक्ष राजेंद्र पंत भी अपने कार्यकर्ताओं के साथ उपस्थित रहे… केंद्रीय प्रवक्ता अनुपम खत्री ने कहा कि हमें किसी के व्यापार से कोई दुश्मनी नहीं लेकिन अगर कोई इमारत हमारे जंगलों को काट कर बनाई गई तो हम उसे बर्दाश्त नहीं करेंगे साथ ही उन्होंने कहा कि यदि हयात होटल के कर्मचारी या कोई भी स्थानीय लोगों का शोषण करते है तो वो बर्दाश्त नहीं किया जायेगा और सरकार को चेतावनी दी कि जल्द ही इस पर ठोस कार्रवाई करें अन्यथा यह आंदोलन आगे और बड़े रूप से सामने आएगा.. एमडीडीए के अधिकारियों पर आरोप लगाते हुए साफ-साफ कहा गया कि उन्होंने रिश्वत लेकर घूसखोरी में यह गलत तरीके से नक्शा पास किया है जिस पर गंभीर रूप से जांच होनी आवश्यक है… केंद्रीय मीडिया व युवा प्रभारी शिव प्रसाद सेमवाल ने स्थानीय लोगों को वादा किया है कि अब उत्तराखंड क्रांति दल उनके साथ है और किसी भी प्रकार की अनियमितताएं बर्दाश्त नहीं की जाएंगी शादी जंगलों का कटान और जंगलों पर अवैध रूप से निर्माणों के खिलाफ उत्तराखंड क्रांति दल पर का रूप से अपना आंदोलन आगे बढ़ा है गांव से निर्णायक स्थिति पर पहुंचाएगा राष्ट्रीय दलों के जो पिठ्ठू यहां बैठे पहाड़ की धरोहर को बेच रहे हैं और उनमें दलाली खा रहे हैं उन सब को जेल की सलाखों के पीछे डालने का काम उत्तराखंड क्रांति दल करेगा… जल जंगल जमीन की लड़ाई में हम कभी भी चुप नहीं बैठेंगे और ना पीछे हटेंगे उक्रांद के कर्मचारी प्रकोष्ठ के केंद्रीय अध्यक्ष राजेंद्र पंत ने सरकार को चेताया है कि वह अपने रंग ढंग सुधार ले अन्यथा इसका बहुत बड़ा खामियाजा इन भ्रष्टाचारी नेता और कर्मचारियों को चुकाना पड़ेगा.. स्थानीय लोगों ने बताया कि किस प्रकार उनकी निजी भूमियों को जबरदस्ती छीन कर उस पर सड़के बना दी गई और उनको किस तरह दबाया गया वहां उपस्थित एक महिला ने बताया कि उसके पास तो कोर्ट का स्टे होने के बावजूद पुलिस ने उसकी नहीं सुनी और जबरन उसकी जमीन छीन ली गई… उदाहरण क्रांति दल ने आज सांकेतिक धरना देकर सरदार को चेतावनी दी है.. साथ ही आरोप लगाया है कि देहरादून मसूरी विकास प्राधिकरण के सचिव घूसखोरी की मिसाल बनते जा रहे हैं अब पूरा विकास प्राधिकरण घूसखोरों का अड्डा बन कर रह गया है.. उत्तराखंड क्रांति दल जंगल बचाओ भ्रष्टाचार मिटाओ की अपनी इस अभियान में आगे और तेजी रहेगा और जंगलों पर हुए अवैध निर्माण नदियों के किनारे हुए हुए अवैध रिजॉर्ट ऊपर अब ठोस और निर्णायक आंदोलन करेगा। धरना प्रदर्शन में यूकेडी के राजेश्वरी रावत, गुलिस्ता खानम, राजेन्द्र पंत, शहजादी, इस्लाम, अल्ताफ, इनाम, संजय तितोरिया, राधेश्याम,सुरेंद्र यादव,गोविन्द अधिकारी, जितेन्द्र, बागेश्वर, चंदन सिहं तथा काफी ग्रामीण शामिल थे।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सोशल मीडिया वायरल

error: Content is protected !!