December 3, 2022

भारतीय संस्कृति का संदेश वाहक है देश का संत समाजः श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज

भारतीय संस्कृति का संदेश वाहक है देश का संत समाजः श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज
 श्री गुरुमण्डल आश्रम, देवीपुरा, हरिद्वार के उत्तराधिकारी बने श्रीमहंत शिवस्वरूप जी महाराज
 श्री गुरुमण्डल आश्रम में जुटे साधु संत समाज के प्रबुद्धजन
 जगन्नाथ रथ यात्रा का हुआ आयोजन, संतो ने हर्षाल्लास के साथ भाग लिया

देहरादून। हमारी संस्कृति ही हमारी पहचान है। देश का संत समाज इस पहचान को विश्व पटल पर शीर्ष स्थान दिलवाने में सतत प्रहरी की भूमिका अदा कर रहा है व गतिशील संदेशवाहक के रूप में सेवारत है। संत का सानिध्य समाज में शांति की स्थापना करता है। धर्म ही है जो व्यक्ति से व्यक्ति को जोड़कर व्यक्तित्व का निर्माण करता है। युवा पीढ़ी को मानव जीवन के उद्देश्य को समझने के लिए भारतीय संस्कृति के संदेशों व पूजनीय संत-महंतों की शिक्षा को आत्मसात करना चाहिए। अच्छे ज्ञान और प्रेम के माध्यम से भारत को एक बार फिर विश्व गुरु बनाया जा सकता है। ऐसे महापुरुषों की जीवनी को विज्ञान, तकनीकी क्षेत्र और नई खोज से जोड़कर मानव भलाई का कार्य तेजी से किया जा सकता है। यह बात श्री दरबार साहिब के श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज ने श्री गुरुमण्डल आश्रम, देवीपुरा, हरिद्वार में आयोजित संत-समागम के दौरान बतौर मुख्य अतिथि कही।
शुक्रवार विभिन्न अखाड़ों के महामण्डलेश्वरों, श्रीमहंतों, महंतों व साधु संतों ने श्री गुरु मण्डल आश्रम, देवीपुरा, हरिद्वार में आयोजित कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। श्री गुरु मण्डल आश्रम के महामण्डलेश्वर श्रीमहंत भवगत स्वरूप जी महाराज ने कार्यक्रम में अपने उत्तराधिकारी की घोषणा की। उन्होंने श्रीमहंत शिवस्वरूप जी महाराज को गुरुमण्डल आश्रम का उत्तराधिकारी घोषित किया। इस अवसर पर आयोजित श्री जगन्नाथ रथ यात्रा में साधु-संतो ने हर्षोल्लास के साथ प्रतिभाग किया।
कार्यक्रम में श्री गुरु राम राय दरबार साहिब के श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित रहे। श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज ने आश्रम के नए उत्तराधिकारी श्रीमहंत शिवस्वरूप जी महाराज को बधाई व शुभकामनाएं दीं। श्रीमहंत शिवस्वरूप जी महाराज ने उद्बोधन में कहा कि देवभूमि उत्तराखण्ड में और इस राष्ट्र में शिक्षा व चिकित्सा के क्षेत्र में श्री दरबार साहिब व श्री गुरु राम राय एजुकेशन मिशन के संस्थान सबसे बड़ा काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि संत समाज के लिए यह गर्व की बात है कि संत समाज से देवभूमि उत्तराखण्ड को सबसे पहला मेडिकल कॉलेज श्री गुरु राम राय मेडिकल कॉलेज दिया गया।
उन्होंने दोहराया श्री दरबार साहिब के सानिध्य में श्री गुरु राम राय मेडिकल कॉलेज, श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय व एसजीआरआर के 125 स्कूलों की बड़ी श्रंखला उत्तर भारत में शैक्षणिक संस्थान चला रही हैं। उन्होंने कहा कि सर्वजन सुखाय सर्वजन हिताय के लिए श्री गुरु राम राय दरबार साहिब मानवता की सेवा कर रहा है।
इस अवसर पर उन्होंने श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज के परमपूज्य गुरुदेव ब्रहमलीन श्रीमहंत इन्दिरेश चरण जी महाराज के चमत्कारी व्यक्तित्व को याद करते हुए उन्हंे श्रद्धाभाव से नमन किया। महामण्डलेश्वर श्रीमहंत भवगत स्वरूप जी महाराज ने श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज को चिकित्सा, स्वास्थ्य व शिक्षा के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने के लिए उन्हें बधाई दी व संत समाज की ओर से उनका आभार जताया। कार्यक्रम में हरिद्वर के विभिन्न आश्रमों के परमाध्यक्ष व संत समाज के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सोशल मीडिया वायरल

error: Content is protected !!